dhoni
dhoni

टीम इंडिया के मैदान पर कैप्टन कूल के नाम से अपनी जगह बनाने वाले टीम इंडिया के पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की गिनती आज भी सबसे बेहतरीन दिग्गज कप्तानों की सूची में होती है। आपको बता दें कि कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं। जो धोनी के अंडर में खेले हैं और उन्होंने अपना शानदार प्रदर्शन दिखाया है और इस समय में वह खिलाड़ी अपने खेल से अपने नाम का डंका बजा रहे हैं।

वहीं कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्हें धोनी की कप्तानी के अंडर में ज्यादा मौके नहीं मिले हैं। यह खिलाड़ी अपने आपको साबित भी नहीं कर पाए हैं। तो चलिए आपको बताते हैं इन खिलाड़ियों के नाम जिन्हें धोनी की कप्तानी में खुद को साबित करने का ज्यादा मौका नहीं मिला है।

Read More : Ind vs Ire: मैदान में अपनी ही टीम के खिलाड़ियों पर गाली-गलौच करते हुए दिखाई दिए हार्दिक, वीडियो हुए वायरल

यूसुफ पठान

Yusuf Pathan
Yusuf Pathan

इसलिए इसमें पहला नाम आता है फौलादी खिलाड़ी युसूफ पठान का। जो शानदार पावर हीटर माने जाते थे। इसके अलावा यूसुफ पठान गेम से भी टीम के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है। राजस्थान रॉयल्स ने साल 2008 में जब पहली बार आईपीएल जीता था। उसमें यूसुफ पठान का सबसे महत्वपूर्ण योगदान था लेकिन इस खिलाड़ी को धोनी की कप्तानी में ज्यादा मौका नहीं मिला। साल 2022 के बाद इस खिलाड़ी को कभी भी टीम इंडिया में मौका नहीं मिला है।

इरफान पठान

Irfan Pathan
Irfan Pathan

टीम इंडिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान अपने पूरे करियर के दौरान चोटिल होने से परेशान रहे हैं। हालांकि चोटिल होने के बाद भी है खिलाड़ी टीम में अपनी वापसी को कई बार दर्ज कर चुका था। इसने अपने आप को साबित करने के लिए काफी अच्छा परफॉर्मेंस भी दिया। लेकिन इरफान पठान को टीम इंडिया ने इतने ज्यादा मौके नहीं दिए। जितना कि वह डिजर्व करते थे और इस खिलाड़ी को धोनी की कप्तानी के दौरान तो बेहद कम मौके मिले हैं।

रॉबिन उथप्पा

Robin Uthappa
Robin Uthappa

आईपीएल में लगातार बेहतरीन परफॉर्मेंस देने के बाद भी इस खिलाड़ी को नियमित खिलाड़ी ग्रुप में कभी भी टीम इंडिया में मौका नहीं मिला था। 2014 और 15 में रॉबिन उथप्पा में रनों की झड़ी लगाई थी। लेकिन जुलाई 2015 में जिंबाब्वे दौरे के बाद वह कभी भी टीम इंडिया में अपनी वापसी को दर्ज नहीं करा पाए।

Read More : मनीष पांडे ने यूरोप ट्रिप से शेयर की ऐसी तस्वीरें, नजर हटाना होगा मुश्किल