Team India
Team India

ICC T20 World Cup के दौरान सुपर 12 स्टेज के मुकाबले अब समाप्त हो चुके हैं। जिसमें ग्रुप 1 में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड और ग्रुप 2 में भारत और पाकिस्तान की टीमें सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही हैं। वहीं अपने आखिरी मुकाबले के दौरान जिंबाब्वे टीम को शिकस्त देकर Team India सेमीफाइनल के लिए अपना टिकट कटवाने में कामयाब रही।

10 नवंबर को एडिलेड ओवल में सेमीफाइनल मुकाबले के दौरान इंग्लैंड और भारतीय टीमें आमने सामने होंगी। लेकिन इत्तेफाक से कहीं अगर भारतीय टीम उस मुकाबले के दौरान हार जाती है, तो वे टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी। आज इस आर्टिकल के जरिए ऐसे तीन खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जिनका T20 करियर वर्ल्ड कप से बाहर होते ही खत्म हो जाएगा।

रविचंद्रन अश्विन

वर्ल्ड कप के दौरान टीम के चयन के बाद रविचंद्रन अश्विन को शामिल किए जाने पर काफी सवाल उठाए गए थे। काफी दिग्गजों द्वारा इस फैसले पर हैरानी भी जताई गई थी। टीम के लिए आश्विन का अनुभव और प्रदर्शन देखते हुए उनको आस्ट्रेलिया में हो रहे सभी मुकाबलों के दौरान चांस दिया गया था। लेकिन उम्मीदों पर आश्विन लेश मात्र भी खरे नहीं उतर सके। ऑफ स्पिन गेंदबाजी के चलते विरोधी बल्लेबाजों को अपनी फिरकी के जाल में फंसाने की आश्विन से उम्मीदें लगाई जा रही थी, लेकिन वह इस टूर्नामेंट के दौरान कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके।

T20 वर्ल्ड कप 2022 के दौरान अगर उनके आंकड़ों पर एक नजर डाली जाए, तो आश्विन द्वारा अब तक पांच मैचों के दौरान पांच पारियों में मात्र 6 विकेट हासिल किए जा सके। इस दौरान उनका इकोनॉमी रेट 7.5 से भी अधिक रहा है। इसके अतिरिक्त उनके द्वारा अपने बल्ले से भी 3 पारियों में मात्र 21 रन ही बनाए गए। अगर ऐसी सिचुएशन में भारतीय टीम वर्ल्ड कप से बाहर हो जाती है, तो इसका सबसे बड़ा कारण अश्विन का खराब प्रदर्शन हो सकता है।

दिनेश कार्तिक

37 वर्षीय खिलाड़ी दिनेश कार्तिक टीम इंडिया के लिए फिनिशर के रूप में वापसी करते हुए वर्ल्ड कप 2022 के दौरान टीम में शामिल किए गए थे। टीम के नाजुक मौकों पर कार्तिक को तेजी से रन बनाकर मैच जीतने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, लेकिन अभी तक खेले गए चार मैचों के दौरान वह किसी भी तरह की बेहतरीन छाप छोड़ने में कामयाब नहीं हो सके। उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा। जिसके चलते जिंबाब्वे के खिलाफ हो रहे मुकाबले के दौरान उन्हें प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दिया गया।

सुपर – 12 (T20 वर्ल्ड कप 2022) में अगर कार्तिक के प्रदर्शन पर नजर डाली जाए, तो उनके द्वारा तीन पारियों में बल्लेबाजी करते हुए मात्र 14 रन बनाए गए। इस दौरान कार्तिक एक बार भी नाबाद पवेलियन वापस नहीं लौट सके। उनके द्वारा विकेट के पीछे कुछ अच्छे कैच पकड़े गए, लेकिन कुछ आसान कैच उनसे छूट भी गए। विकेट के पीछे कार्तिक द्वारा खेले 4 मैचों के दौरान मात्र 5 कैच ही पकड़े जा सके।

रोहित शर्मा

पिछले साल विराट कोहली की कप्तानी के दौरान लीग स्टेज से भारतीय टीम बाहर हो गई थी। जिसके चलते भारतीय टीम के नए कप्तान की कप्तानी के दौरान टीम से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद लगाई गई थी। कप्तान बनने के बाद भारतीय टीम को रोहित शर्मा द्वारा सेमीफाइनल तक पहुंचा दिया गया है, और अब खिताबी जीत की टीम प्रबल दावेदार भी बन चुकी है। लेकिन अगर व्यक्तिगत रूप से देखा जाए, तो इस टूर्नामेंट के दौरान रोहित शर्मा का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक साबित हुआ है।

एक विस्फोटक सलामी बल्लेबाज के रूप में मशहूर रोहित शर्मा T20 वर्ल्ड कप 2022 के दौरान भारतीय टीम को एक मजबूत शुरुआत देने में नाकाम रहे अगर उनके आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो रोहित द्वारा अब तक पांच मैचों की 5 पारियों के दौरान मात्र 89 रन बनाए गए जिसमें उनका औसत 17.80 रहा इसके अतिरिक्त उनका स्ट्राइक रेट 109.87 का ही रहा अब ऐसी स्थिति में कहा जा सकता है कि टी-20 विश्व कप के सुपर 12 में रोहित शर्मा अपने बल्लेबाजी के दौरान पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए।

Read Also:-PAK vs NZ: पाकिस्तान के शानदार कमबैक पर बाबर आजम का ये बड़ा बयान, गेंदबाजों की तारीफों की पढ़े कसीदें