Rahul dravid
Rahul dravid

राहुल द्रविड़ पिछले लगभग 8 महीनों से टीम इंडिया के हेड कोच की कमान संभाल रहे हैं। उन्होंने 17 नवंबर 2021 को न्यूजीलैंड के खिलाफ T20 सीरीज से अपने सफर को शुरू किया था। पिछले 10 महीनों में साउथ अफ्रीका के खिलाफ हुए 5 T20 मैच में टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में बल्ले ही बदलाव नहीं हुआ हो। लेकिन द्रविड़ के कोच बनने के बाद टीम में छह अलग-अलग कप्तान बदल चुके हैं।

लगातार कप्तान बदलने का नहीं था कोई भी प्लान

Rahul Dravid
Rahul Dravid

टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ का कहना है कि उन्होंने 8 महीनों में खेल के सभी फॉर्मेट में छह कप्तानों को बदलने की कोई भी योजना नहीं बनाई थी। खराब से खराब हालत में सकारात्मकता ढूंढने वाले राहुल द्रविड़ ने कहा है कि इससे हमारी टीम के अंदर ज्यादा से ज्यादा कप्तान तैयार करने का हमें मौका मिलेगा।

आपको बता दें कि कोविड-19 के बायो- बबल पर एक और इंजरी के कारण बदले गए कप्तान के रूप में विराट कोहली, रोहित शर्मा शिखर धवन, लोकेश राहुल ऋषभ पंत और हार्दिक पांड्या ने टीम की कमान संभाली थी। हालांकि आपको बता दें कि हार्दिक पांड्या आयरलैंड दौरे में बतौर कप्तान शामिल होंगे।

अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया को हाथ लगी थी निराशा

Rahul Dravid
Rahul Dravid

साउथ अफ्रीका में टेस्ट वनडे सीरीज गवाना काफी ज्यादा निराशाजनक था। इसके लिए टीम के हर पहलू में बेहतर होने की कोशिश करने में जुटी है। उन्होंने कहा है कि लगातार हम अच्छा करने की कोशिश करते हैं। विभिन्न लोगों के साथ काफी कोशिश करते हैं। पिछले 8 महीनों में दक्षिण अफ्रीका का दौरा टेस्ट क्रिकेट के लिहाज से थोड़ा सा निराशाजनक रहा है।

सफेद गेंद का क्रिकेट है काफी अच्छा

Rahul Dravid
Rahul Dravid

आपको बता दें कि राहुल द्रविड़ काफी खुश हैं कि आईपीएल के बदौलत गेंदबाजी में कई सारे खिलाड़ी सामने आए हैं। उन्होंने कहा है कि हमारा सफेद गेंद का क्रिकेट काफी अच्छा है। इससे टीम का जज्बा भी झलकता है। आईपीएल के दौरान तेज गेंदबाजी वाली प्रतिभा निखर कर आई है।

खास करके कुछ गेंदबाज काफी रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं। इतना ही नहीं इसी के साथ उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए यह भी कहा है कि काफी युवाओं को अपना कौशल दिखाने का मौका मिला। जोकि काफी अच्छा था। जो भारतीय क्रिकेट टीम के लिए काफी बेहतर है।