शोएब अख्तर ने सचिन तेंदुलकर को लेकर दिल को छू लेने वाली बात, जिसे सुनकर हर भारतीय को होगा गर्व
शोएब अख्तर ने सचिन तेंदुलकर को लेकर दिल को छू लेने वाली बात, जिसे सुनकर हर भारतीय को होगा गर्व

पाकिस्तान के फौलादी गेंदबाज शोएब अख्तर और भारतीय टीम के बेहतरीन खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने एक दूसरे का कई बार मैदान में आमना सामना किया है। हालांकि कई मौके ऐसे भी आए हैं जब दोनों ने एक दूसरे से बेहतर प्रदर्शन किया है। वैसे तो पाकिस्तान का यह बेहतरीन खिलाड़ी न सिर्फ क्रिकेट के मैदान में अपने बेहतरीन प्रदर्शन के लिए जाना जाता है। बल्कि अक्सर अपने बेबाक बयानों की वजह से भी अक्सर चर्चा में रहते हैं।

अब एक बार फिर से पाकिस्तान का यह हलफनामा गेंदबाज सुर्खियों में आ गया है। तो सभी आपको बताते हैं कि आखिर शोएब ने ऐसा क्या कह दिया है जिसकी वजह से वो एक बार फिर से अखबारों की हैडलाइन बन गए है।

जब सचिन तेंदुलकर को किया था शोएब अख्तर ने पहली गेंद पर आउट

Sachin tendulkar
Sachin tendulkar

हालांकि पहले भी कई बार इस बात को कह चुके हैं कि वह सचिन तेंदुलकर को भारतीय टीम के सबसे महान क्रिकेटरों में से एक मानते हैं। शोएब अख्तर ने 1999 में भारत के खिलाफ जब अपना पहला टेस्ट कोलकाता खेला था। तब वो इस बात को नही जानते थे भारतीय फैंस सचिन के बारे में क्या सोचते है। सचिन के फैंस उनको कितना प्यार करते हैं।

किसको क्रिकेट का भगवान कह रहे है लोग

Akhtar
Akhtar

एक खास बातचीत में शोएब अख्तर ने इस बात का खुलासा किया कि जब वह कोलकाता में 1999 में अपने खेल की शुरुआत कर रहे थे। तब वह मैच के शुरू होने से पहले ही टीम के दिग्गज खिलाड़ी मुश्ताक के साथ मजाक किया बातचीत कर रहे थे। उस दौरान शोएब अख्तर ने बताया कि करीब एक लाख लोग स्टेडियम के अंदर बैठा हुआ है और इतना ही पब्लिक बाहर इंतजार कर रही है। तब मैंने मुश्ताक से बोला कि आखिर यह भीड़ किस को क्रिकेट का भगवान कह रही है।

इतना ही नहीं सकता अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि उन्होंने मुझसे कहा कि भारत में तेंदुलकर को भगवान माना जाता है। मेरा तुरंत जवाब था कि अगर मैं इस भगवान को आउट कर दूं तो क्या होगा। उन्होंने मुझे याद दिलाया कि उन्होंने पिछले दो टेस्ट मैचों में तेंदुलकर को आउट किया था इसलिए हम एक दोस्ताना मैच में उतरेगी कौन सचिन को आउट करेगा।

तुमने जो कहा कर दिखाया

Shoaib Akhtar
Shoaib Akhtar

शोएब ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि राहुल द्रविड़ के आउट होने के बाद सचिन जब बल्लेबाजी करने मैदान में आए। तो वह बहुत ही धीमी गति से खेल रहे थे और ऐसा लग रहा था कि जैसे उनका चलना भी खत्म नहीं हो रहा। मैं अपने रन अप पर गया पीछे मुड़कर देखा और उसके आने का इंतजार करने लगा जब मैंने सचिन को आउट किया तो पूरे मैदान में सन्नाटा छा गया था। जिसके बाद मेरी टीम के दिग्गज खिलाड़ी मुश्ताक मुझसे बहुत खुश हो गए थे और उन्होंने मुझसे खुश होकर कहा था कि तुमने जो कहा वह करके दिखाया है।