शेन वार्न का इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल (IPL) से गहरा नाता है। शेन वॉर्न इंडियन टी20 क्रिकेट लीग के पहले सीजन के पहले चैंपियन कप्तान थे। साल 2008 में आइपीएल की शुरुआत हुई थी और राजस्थान रायल्स टीम की कमान शेन वार्न के हाथों में दी गई थी। इस सीजन में उन्होंने अपनी शानदार कप्तानी के जरिए इस टीम को चैंपियन बना दिया था।

2007 में इंटरनेशनल क्रिकेट करियर से शेन वार्न ने लिया संन्यास

शेन वार्न ने साल 2007 में इंटरनेशनल क्रिकेट करियर को अलविदा कह दिया था और इसके बाद साल 2008 में राजस्थान रायल्स ने नीलामी के जरिए खरीदा था और उन्हें टीम का कप्तान बनाया था। सान 2008 में वार्न ने राजस्थान को चैंपियन बनाया और इसके बाद साल 2011 तक टीम के कप्तान बने रहे। इसके बाद वो आइपीएल में खेलते हुए नजर नहीं आए।

चेन्नई सुपर किंग्स को हराकर राजस्थान बनी थी 2008 की चैंपियन

शेन वार्न की कप्तानी में राजस्थान रायल्स टीम आइपीएल सीजन 2008 के फाइनल में पहुंची थी। फाइनल में इस टीम का सामना एम एस धौनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स के साथ हुआ था। फाइनल मैच में सीएसके (CSK) ने पहले बल्लेबाजी की थी और 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 163 रन बनाए थे। सीएसके की तरफ से सुरेश रैना ने सबसे ज्यादा 43 रन बनाए थे जबकि पहली पारी में राजस्थान की तरफ से यूसुफ पठान ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए थे जबकि शेन और सौहेल तनवीर को एक-एक सफलता मिली थी।

इस फाइनल को जीतने के लिए राजस्थान की टीम को 164 रन बनाने थे और इस टीम ने 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 164 रन बनाते हुए तीन विकेट से मैच जीत लिया और पहली बार चैंपियन बनी।

ये भी पढ़ें-शेन वॉर्न के सपनों में आते थे सचिन तेंदुलकर, आखिर क्यों डरते थे दिग्गज स्पिनर