महेंद्र सिंह धोनी ने इन 4 खिलाड़ियों को दिया पीठ पीछे धोखा, इनमें से 2 खिलाड़ी तो उन्हें मानते थे अपना भाई
महेंद्र सिंह धोनी ने इन 4 खिलाड़ियों को दिया पीठ पीछे धोखा, इनमें से 2 खिलाड़ी तो उन्हें मानते थे अपना भाई

महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट की दुनिया का एक ऐसा नाम है। जिन्होंने अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी के दम पर 2 वर्ल्ड कप और एक आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी को अपने नाम किया है। धोनी के लाखों लोग दीवाने हैं। हालांकि जहां धोनी को लोग उनकी बैटिंग के लिए पसंद करते हैं। वही उनकी टीम के कई सारे खिलाड़ी ऐसे हैं। जो महेंद्र सिंह धोनी धोनी के व्यक्तित्व को काफी ज्यादा पसंद करते हैं कि आपको बताते हैं स्टार बल्लेबाज की तारीफ के बारे में जो स्पिनर युज़वेंद्र चहल ने धोनी के लिए की है।

युज़वेंद्र चहल ने की महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ़

chahal
chahal

आपको बता दें कि चहल ने अपने यूट्यूब ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस ने कहा है कि मुझे महान खिलाड़ी धोनी से वनडे क्या प्राप्त हुई है। वह एक बहुत बड़े महान खिलाड़ी हैं और मैं पहली बार उनके साथ खेला था। मैं उनके सामने बात तक नहीं कर पा रहा था। वह इतनी अच्छी तरह से खेलते हैं कि आपको यह देखकर हैरानी होगी कि क्या वह वास्तव में महेंद्र सिंह धोनी ही है चहल ने साल 2016 में जिंबाब्वे के दौरान धोनी से वनडे कैप प्राप्त की थी और उनके प्रदर्शन की वजह से ही उन्हें उसके बाद T20 इंग्लैंड के खिलाफ खेलने का मौका मिला था।

धोनी से काफी ज्यादा प्रभावित हुआ था यह खिलाड़ी

Chahal
Chahal

इसी के साथ चहल ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि जब मैं जवाब में मैं पहली बार उनसे मिला था। तो मुझे ऐसा लगा कि वह मुझसे बहुत ज्यादा बड़े हैं। तो मैं उन्हें माही सर कहता हूं। बाद में उन्होंने मुझे फोन किया और कहा कि माही धोनी महेंद्र सिंह धोनी या भाई आप जो चाहते हैं मुझे बुलाओ लेकिन सर नहीं बोलना। हालांकि चहल भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी किस बात से काफी ज्यादा प्रभावित हुए थे।

आईपीएल मैच खेल का प्रदर्शन

Chahal
Chahal

बात अगर युज़वेंद्र चहल के आईपीएल के प्रदर्शन की करें तो आपको बता दें कि इस सीजन में उन्होंने अपने खेल का कमाल दिखाया है। उन्होंने राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते हुए 17 मैचों में 27 विकेट चटकाए हैं। वह आईपीएल के सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी बन चुके हैं। इतना ही नहीं उनके खतरनाक खेल की वजह से उन्हें पर्पल कैप भी मिली है।