IND vs SA: इस खिलाड़ी को माना जा रहा है टीम इंडिया की हार का विलेन, बचाव में उतरे किशन किशनIND vs SA: इस खिलाड़ी को माना जा रहा है टीम इंडिया की हार का विलेन, बचाव में उतरे किशन किशन
IND vs SA: इस खिलाड़ी को माना जा रहा है टीम इंडिया की हार का विलेन, बचाव में उतरे किशन किशन

साउथ अफ्रीका के खिलाफ दिल्ली में खेले गए पांच मैचों की टी-20 सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया ने 7 विकेट से करारी हार का सामना किया है इंटरनेशनल क्रिकेट के कप्तान के तौर पर ऋषभ पंत का यह पहला मुकाबला था और पहले मैच के दौरान टीम का खराब प्रदर्शन ऋषभ पंत को ना गवारा गुजरा है। जिसके बाद से वह काफी परेशान हैं। हालाकिं इस मैच के ख़त्म होने के बाद उन्होंने इस मैच की हार का ढींगरा अपनी टीम के गेंदबाजों पर फोड़ा हैं।

हालाकिं पंत के इस बयान के बाद टीम के खिलाड़ी ईशान किशन अपनी टीम के सपोर्ट में उतर आएं हैं ईशान किशन अपने साथी खिलाड़ी का बीच बचाव करते हुए दिखाई दिए हैं

टीम इंडिया को मिली हार का विलेन है यह खिलाड़ी

team india
team india

जानकारी की आपको बता रहे हैं कि वह रसी वन को 29 के स्कोर पर श्रेयस अय्यर ने आवेश खान की गेंद पर जीवनदान दिया था। जो भारत को महंगा पड़ा है। इसी के वन डेर डुसेन ने 40 गेंदों पर 75 रनों की नाबाद पारी खेली है। डेविड मिलर ने 31 गेंदों में 64 रन बनाए हैं वही भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट पर 211 रन बनाए हैं। लेकिन डूसेन और डेविड मिलर के बीच नाबाद शतकीय साझेदारी की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने 5 गेंद बाकी रहते हुए 7 विकेट से जीत दर्ज कराया है।

इस खिलाड़ी का बचाव करने उतरे साथी खिलाड़ी

ishan kishan
ishan kishan

टीम इंडिया के इस बल्लेबाज ईशान किशन का मानना है कि हार का ठीकरा इस पर फोड़ना नहीं चाहिए। इस बात पर पूछे जाने के बाद ईशान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बात को बताया है कि यह कहना गलत होगा कि उस कैच छूटने की वजह से हम टीम में हारे हैं। यह बात सही है कि कैच अगर लपक लिया जाता तो हम इस सीरीज के पहले मैच को जीतने लेकिन एक खिलाड़ी को दोषी ठहराना भी गलत होता है।

दक्षिण अफ्रीका के पास मौजूद है काफी अच्छे स्पिनर

ishan kishan
ishan kishan

किशन ने अपनी बात को आगे बढ़ाया और कहा कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए। साउथ अफ्रीका एक बहुत ही शानदार टीम है और उन टीम के पास काफी अच्छे फिनिशर्स मौजूद है। उन्हें जीत का श्रेय दिया जाना चाहिए। ईशान ने अभी इस बात को स्वीकार किया है कि बाकी चार मैचों में इन दोनों बल्लेबाजों के खिलाफ भारत को खास रणनीति बनानी चाहिए।