B’DAY SPECIAL: आसान नहीं था अजिंक्य रहाणे के लिए क्रिकेट के मैदान तक का सफर! अपनी कप्तानी में तोड़ा ऑस्ट्रेलिया का ‘घमंड’
B’DAY SPECIAL: आसान नहीं था अजिंक्य रहाणे के लिए क्रिकेट के मैदान तक का सफर! अपनी कप्तानी में तोड़ा ऑस्ट्रेलिया का ‘घमंड’

मुंबई शहर के डोंबिवली की तंग गलियों से बाहर निकलकर क्रिकेट कि दुनिया को कुछ समय पहले एक ऐसा सितारा मिला था। जिसने अपने बल्लेबाजी का हुनर दिखाते हुए न सिर्फ क्रिकेट के मैदान पर अपनी छाप छोड़ी बल्कि लाखों लोगों के दिलों में भी अपनी जगह बनाई है। ठीक-ठाक कद काठी लेकिन आंखों में क्रिकेट के प्रति जुनून रखने वाला यह शख्स कोई और नहीं बल्कि भारतीय टीम के खिलाड़ी अजिंक्य रहाणे है। जी हां हम आपको बता दें कि आज वह अपना 34 वां अपना जन्मदिन मना रहे हैं। आज उनसे जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में बताते हैं जिसको बेहद कम लोग जानते हैं।

कराटे से क्रिकेटर बने अजिंक्य रहाणे

RaHANE
RaHANE

जानकारी के लिए आपको बता दें इस खिलाड़ी का जन्म साल 1988 को महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में हुआ था। एक छोटे से गांव के साधारण से परिवार में जन्मे अजिंक्य ने 7 साल की उम्र से ही क्रिकेट खेल शुरू कर दिया था। जिसे देखने के बाद उनके पिता ने गांव को छोड़कर मुंबई के डोंबिवली में क्रिकेट कोचिंग कैंप में उनका दाखिला करा दिया। उस समय अजिंक्य बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे थे और उनकी जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट तब आया जब इस 17 साल के बच्चे को पूर्व भारतीय बल्लेबाज प्रवीण आमरे ने बल्लेबाजी का हुनर दिखाते हुए देखा और उन्हें कोचिंग देने का फैसला किया।

वेस्टइंडीज के खिलाफ किया था अपना डेब्यू

ajinkya Rahane
ajinkya Rahane

2007 में भारत और न्यूजीलैंड के अंडर-19 टीम को एक दूसरे से भिड़ना था, इस मैच में मौजूद समय में टीम इंडिया के बेहतरीन बल्लेबाज विराट कोहली समेत रविंद्र जडेजा इशांत शर्मा खिलाड़ी मौजूद थे, लेकिन सबके बीच में अपने नाम का डंका बजाया था धीरे-धीरे बनाएं और अपने सपने को पूरा किया, उन्होंने साल 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहली बार इंडियन टीम की तरफ से खेला।

बतौर कप्तान नहीं हारा एक भी मैच

ajinkya Rahane
ajinkya Rahane

आपको बता दें कि अजिंक्य रहाणे ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन के बलबूते पर अपने आपको साबित किया जिसके बाद उन्हें कई जगह पर कप्तानी करने का भी मौका मिला और देखते ही देखते वो लिमिटेड ऑफर फॉर्मेट के टीम इंडिया का एक हिस्सा बन गए। हालांकि मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करने वाले राह नहीं छोड़ना भी कई बार राहुल द्रविड़ से की गई लगातार बेहतरीन प्रदर्शन के चलते उन्हें टेस्ट क्रिकेट में उप कप्तान भी बनाया गया विराट कोहली की गैरमौजूदगी में रहाणे ने टेस्ट मैचों में टीम इंडिया की कप्तानी भी की थी।

Read More – कारीगर ने धोनी और उनकी बेटी के लिए बनाया ख़ास तोहफा! स्टॉल पर खरीदने पहुंच गए एमएस धोनी