भारत और साउथ अफ्रीका के बीच चल रही T20 इंटरनेशनल सीरीज का तीसरा मैच हो चुका है। इस सीरीजके तीसरे मैच में टीम इंडिया को जीत हासिल हुई है। हालाकिं इस सीरीज में यह टीम इंडिया की पहली जीत है। आपको बता दें कि भारत की ओर से ऋतुराज और ईशान किशन ने धमाकेदार शुरुआत की थी और दोनों ही खिलाड़ियों ने शुरुआत के 10 ओवर में 97 रन बना डाले थे। लेकिन इसके बाद टीम इंडिया की पारी बीच में लड़खड़ाते हुई दिखाई दी जहां ऋतुराज ने 57 रन की पारी खेली ईशान किशन ने 54 रन बनाकर तूफानी बैटिंग का परिचय दिया।

वही अगर बात साउथ अफ्रीका के वायने पर्नेल की करें तो ये खिलाड़ी अपनी टीम के लिए काफी किफायती गेंदबाज साबित हुए हैं। है। हालाकिं टीम में वापसी करना इस ख़िलाड़ी के लिए आसान नहीं था। वापसी दर्ज करने के लिए इस खिलाड़ी ने खूब पापड़ बेले हैं।

मिडिल आर्डर में नही दिखा कोई कमाल

team india
team india

वही बात अगर मध्यक्रम की करें तो मिडिल ऑर्डर में कोई भी खिलाड़ी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाया। श्रेयस अय्यर ने सिर्फ 14 रन बनाए तो वहीं कप्तान 56 रन पर ही सिमट गए। दिनेश कार्तिक की करें तो दिनेश कार्तिक 20 रन ही बना पाए थे। आखिरी में आए हार्दिक पांड्या ने रन बनाए 21 रन बनाकर टीम इंडिया का स्कोर ही पहुँचा था। बात अगर अफ्रीका की गेंदबाजी की करें तो अफ्रीका की तरफ से प्रिटोरियस ने दो विकेट लिए वहीं शम्सी महाराज और रबाडा ने एक-एक विकेट हासिल किया।

अफ्रीका का यह गेंदबाज साबित हुआ तुरुप का इक्का

wayne parnell
wayne parnell

आपको बता दें कि अगर सीरीज में साउथ अफ्रीका के वायने पर्नेल की करें तो तो यह खिलाड़ी बेहद ही शानदार फॉर्म में दिखाई दिए और उन्होंने इस दौरान किफायती गेंदबाजी भी की। 5 साल 51 मैच खेलने के बाद ये खिलाड़ी टीम में अपनी वापसी दर्ज करा पाया हैं। हालांकि इस खिलाड़ी के लिए यह कहना गलत नहीं होगा कि भुवनेश्वर और रबाडा के बाद वायने सबसे ज्यादा किफायती गेंदबाज दिखाई दिए हैं। पर्नेल ने सीरीज में 2 विकेट भी चटकाए हैं।

आसान नहीं था टीम में वापसी करना

parnell
parnell

आपको बता दें कि पर्नेल में साउथ अफ्रीका के लिए छह टेस्ट मैच 65 वनडे और 40 की 20 मैच खेले हैं। उन्होंने गेंद और बल्ले से भी अपना बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया है वनडे में अगर इस खिलाड़ी की बात करें तो उन्होंने 95 टेस्ट में 15 और T20 में 40 विकेट चटकाए हैं। हालांकि उनका करियर बहुत ज्यादा खास तो नहीं रहा है और वह लगातार 2017 से टीम से बाहर चल रहे हैं।

इस खिलाड़ी ने 30 जुलाई 2011 को अपने 22वें जन्मदिन के दौरान इस्लाम धर्म को ग्रहण कर लिया था। साउथ अफ्रीका मीडिया में ऐसी खबरें भी आई थी कि उन्होंने यह कदम अपनी टीम के साथी बल्लेबाज हाशिम अमला को देखकर उठाया है। लेकिन बातों में कोई भी सच्चाई नहीं थी इतना ही नहीं खिलाड़ी ने अपना नाम बदलकर वेन वलीद पार्नेल रख लिया था।