IND vs SA 3rd T20: तीसरे टी20 मैच के लिए भारतीय टीम के कप्तान ऋषभ पंत इन खिलाड़ियों को दिखा सकते है बाहर का रास्ता
IND vs SA 3rd T20: तीसरे टी20 मैच के लिए भारतीय टीम के कप्तान ऋषभ पंत इन खिलाड़ियों को दिखा सकते है बाहर का रास्ता

भारतीय टीम और साउथ अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज खेल रही है। ऐसे में दो मैच सीरीज के हो चुके हैं और दोनों में ही भारत को करारी हार का सामना करना पड़ा है। लेकिन तीसरा टी20 मैच 14 जून को खेला जाएगा अगर इस सीरीज के तीसरे मैच में भारतीय टीम के कप्तान ऋषभ पंत कुछ बदलाव कर लेते हैं।

तो उन्हें इस सीरीज के तीसरे मैच में जीतने का मौका मिल सकता है। लेकिन ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि 2 बार टीम का ख़राब प्रदर्शन देखने के बाद अपनी टीम से कई सारे खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखा सकते हैं।

ओपनिंग खिलाड़ियों में होगा बदलाव

ishan kishan
ishan kishan

साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले दोनों मैचों में ईशान किशन ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन दिखाया है उन्होंने पहले मैच में तूफानी हाफ सेंचुरी लगाई है। वहीं दूसरे मैच में काफी अच्छी शुरुआत की थी। लेकिन ईशान किशन के साथ उनके जोड़ीदार ऋतुराज गायकवाड़ दोनों ही मैचों में बहुत बुरी तरह फ्लॉप साबित होते हुए दिखाई दिए हैं। उनके बल्ले से ना तो रन ही निकले हैं और ना ही उन्होंने कुछ खास कमाल दिखाया है। ऐसे में ऋतुराज की जगह वेंकटेश को मौका मिल सकता है और तीसरे नंबर पर अय्यर को खिला सकते हैं।

मिडिल ऑर्डर में भी ऋषभ पंत कर सकते हैं बदलाव

pant
pant

चौथे नंबर पर कप्तानी करने वाले पंत खुद ही मैदान में खेलने को उतर सकते हैं। वह विकेटकीपर की जिम्मेदारी भी निभाएंगे और 5 के नंबर के लिए हार्दिक पांड्या को मौका मिल सकता है छठे नंबर के लिए दिनेश कार्तिक की जगह पक्की है कार्तिक ने दूसरे टी-20 मैच में शानदार खेल का प्रदर्शन दिखाया था। उन्होंने इस दौरान 21 गेंदों में 31 रन हासिल किए थे। वही बात अगर गेंदबाजी की करें तो आपको बता दें कि भुवनेश्वर कुमार ने 4 विकेट अपने नाम किए थे और ऐसे प्रदर्शन को देखते हुए उनका खेलना लगभग तय माना जा रहा है।

वही हर्षल पटेल ने डेथ ओवर में शानदार गेंदबाजी की थी। वहीआवेश खान की जगह उमरान मलिक को डेब्यू करने का मौका मिल सकता है वहीं अगर स्पिन विभाग की बात करें तो चहल इस दौरान गेंदबाजी करते हुए नजर आ सकते हैं सर पटेल की जगह दीपक हुड्डा को भी जगह मिल सकती है क्योंकि दीपक गेंद और बल्ले दोनों में ही माहिर है।