आखिर राजामौली की फिल्मों को करने के बाद ही क्यों फ्लॉप होते हैं सुपरस्टार, जानिए इसके पीछे का सबसे बड़ा काऱण
आखिर राजामौली की फिल्मों को करने के बाद ही क्यों फ्लॉप होते हैं सुपरस्टार, जानिए इसके पीछे का सबसे बड़ा काऱण

यह बात तो हम सभी जानते हैं कि एसएस राजामौली भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के सबसे जाने-माने निर्देशकों में से एक हैं। हालांकि उनके द्वारा निर्देशित की गई फिल्में सुपरहिट नहीं बल्कि सुपर डुपर हिट होती है। फिर बात चाहे आरआरआर की हो या फिर बाहुबली की। उन्होंने इस बात को साबित करके दिखाया है कि उनकी कड़ी मेहनत के बावजूद ही यह फिल्में 1000 करोड़ रुपए के क्लब में शामिल होती है।

इतना ही नहीं आपको बता दें कि बाहुबली हो या फिर आरआरआर यह दोनों ही फिल्में भारतीय बॉक्स ऑफिस पर सबसे बड़ी हिट साबित हुई थी। हालांकि आरआरआर राजामौली की दूसरी पैनइंडिया फिल्म है। जो 1000 करोड़ के क्लब में शामिल हुई है। इससे पहले फिल्म बाहुबली की बात करें, तो बाहुबली 2 ने 1700 करोड रुपए की कमाई की थी। हालांकि एसएस राजामौली के बेहतरीन निर्देशक होने के बावजूद भी उनके साथ एक बहुत बड़ा मिथ जुड़ा हुआ है। जी हां आपको बता दें कि जो भी हीरो उनके साथ काम कर लेता है वह ना तो सिर्फ मशहूर हो जाता है बल्कि दुनिया में फेमस होने के साथ-साथ उसको खूब नाम और शोहरत भी मिलती है। लेकिन इसके साथ ही यह भी बात कही जाती है कि जो भी हीरो उनके साथ काम कर लेता है उसकी अगली फिल्म में लगातार फ्लॉप होती चली जाती है।

सबसे बड़ा उदाहरण है प्रभास और राम चरन

Prabhas
Prabhas

हालांकि राजामौली से जुड़े इस मिथ का सबसे बड़ा उदाहरण सुपरस्टार प्रभास और रामचरण दोनों ही है। अगर बात प्रभात की करें तो आपको बता दें कि बाहुबली के बाद प्रभास रातों-रात स्टार बन गए थे । साउथ से लेकर के बॉलीवुड तक सिर्फ उनके ही नाम का डंका बजता था लेकिन बाहुबली की सफलता का स्वाद चखने के बाद जैसे ही प्रभाव फिल्म साहू में नजर आए तो उनके प्रदर्शन को लोगों ने ज्यादा नहीं पसंद किया। यह आपको बता दें कि फिल्म साहो बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से फ्लॉप साबित हुई थी। हालांकि फिल्म में लगी लागत को भी निर्देशक आसानी से नहीं निकाल पाए थे।

आरआरआर की सफलता के बाद फ्लॉप साबित हुए रामचरण

Ram-Charan
Ram-Charan

अपना पूरा समर्पण देने के बाद एसएस राजामौली जो फिल्म बनाते हैं। वह फिल्में ना सिर्फ इसलिए इतिहास रचती हैं कि उनकी मेहनत होती है बल्कि वह अच्छा खासा करोड़ों रुपए का दाव भी खेलते हैं। लेकिन दांव लगाने वाले निर्देशक को पता होता है कि उनकी फिल्म में लगने वाली पाई-पाई भी वसूल हो जाएगी। हालांकि इसके साथ ही जो मुनाफा होगा। वह आपको हैरान कर देने वाला होगा। यह फ़िल्में ब्लॉकबस्टर तो होती ही है बल्कि इस फिल्म में काम करने वाला है कि स्टार भी सुपरस्टार बन जाता हैं।

380 दिनों तक लगातार की थी फ़िल्म की शूटिंग
एसएस राजामौली वह निर्देशक हैं जो अपनी एक फिल्म को बनाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। इतना ही नहीं वह अपनी एक फिल्म के बारे में सोचने तक के लिए साधना करते हैं। जी हां आपको बता दें कि जब वह अपनी फिल्मों का निर्माण करते हैं उस समय वह किसी का भी इंटरफेयर बर्दाश्त नहीं करते हैं । जानकारी के लिए आपको बता दें कि जब बाहुबली की शूटिंग हो रही थी। तो उन्होंने अपनी पूरी टीम को 5 साल के लिए कैद कर लिया था। इसी के साथ उन्होंने 380 दिन लगातार शूटिंग की थी।

Read More – https://bharatkasach.com/entertainment/sonakshi-sinha-wedding-pictures/